साढ़े साती shani dev ki saadhe saati 16 हफ़्तों मे करें समाप्त

0
287

अगर आप के ऊपर शनि देव की साढ़े साती या ढैया चल रही है तो घबराए नहीं। ऐसी अवस्था मे करें ये अचूक उपाय । तो शनि देव प्रसन्न होंगे और आपको सभी कष्टो से मुक्त कर देंगे। 

साढ़ेसाती

वास्तव में शनि देव को न्याय का देवता भी कहा जाता है इसीलिए अगर अंजाने मे हमसे कोई पाप हो जाता है तो उसकी सजा शनि देव ही देते है इसीलिए उस सजा से मुक्ति पाने के लिए कुछ खास उपाय है जिनको नियमित रूप से करने पर आप सभी कष्टो से मुक्त हो सकते है और शनि देव की कृपा प्राप्त कर सकते है।

और अगर नोकरी या व्यापार मे परेशानी आ रही है तो शनि देव सभी कष्टो से मुक्त कर देंगे ।

शनि देव की साढ़े साती के उपाय:

प्रत्येक शनिवार का उपवास रखे और और ये उपवास 16 या 9 शनिवार तक प्रण लेके नियम पूर्वक करें ।

शनिवार के दिन स्नानादी करके स्वच्छ वस्त्र धरण कर शनि मदिर जाये अगर आप किसी कारण से मंदिर नहीं जा सकते तो घर पर ही पूजा करें। पूजा मे सरसों के तेल का दीपक जलाए और काले तिल व साबुत काली उड़द थोड़ी मात्र मे चढ़ाये । और हो सके तो 108 बार   ॐ प्रां प्रीं प्रों सः शनिश्चराय: नमः  

अथवा

ॐ शम शनेश्चराए: नमः  मंत्र का जप करें

और फिर शाम को दिन छिपने से पूर्व पीपल के व्रक्ष के नीचे चार बत्ती वाला मिट्टी अथवा लोहे के दीपक को जलाए और काले तिल व साबुत काले उड़द चढ़ाए और ऊपर दिये गए मंत्र मे से किसी एक का उच्चारण 108 बार करें।

अगर ये नहीं कर सकते तो शनिवार व मंगलवार सुबह शाम हनुमान चालीसा या शनि चालीसा का पाठ करें और याद रहे पूजा दोनों समय नहाने के पश्चात ही करनी है ।

कव्वो को काले चने उबाल कर या काली दाल की खिचडी बनाकर खिलाये । याद रहे किसी भी चीज मे नमक का उपयोग नहीं करना ।

इस दिन अगर आप किसी गरीब को काली छाता या काले चमड़े के जूते दान करें साथ ही भोजन भी कराये दो अति फलदायी होता है ।

शनि देव के व्रत (उपवास )मे शाम को प्रशाद मे क्या खाये 

शनि देव के व्रत मे दूध का सेवन बिलकुल निषेध है इसीलिए दूध का सेवन बिलकुल न करें । चाय पी सकते है और फल आदि का सेवन दिन मे एक बार कर सकते है ।

शाम के समय बिना नमक के काली दाल की खिचड़ी सरसों के तेल से बनानी है है और उसमे थोड़ा सा देसी घी और शक्कर मिलाकर कर शनि देव की पूजा करके भोग लगाए और गाय को खिलाने के बाद खुद ग्रहण करें ।

अगर आप नियमित रूप से भगवान शनि देव की के व्रत और पूजा 16 या 19 हफ्ते करते है तो आपके सभी कष्ट दूर हूते चले जाएँगे और आपका जीवन फिर से खुशियो से भर जाएगा ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here